Travel Guide

ऊटी में घूमने के स्थल और ऊटी जाने का सही समय कौन सा है

ऊटी में घूमने के स्थल और ऊटी जाने का सही समय कौन सा है
ऊटी में घूमने के स्थल और ऊटी जाने का सही समय कौन सा है

ऊटी में घूमने के स्थल और ऊटी जाने का सही समय कौन सा है : दोस्तों अगर आप छुट्टियों के दिनों कही घूमने का विचार बना रहे हैं तो आपके लिए ऊटी सबसे अच्छा और बेहतरीन पर्यटक स्थल हो सकता है। अगर आप ऊंचे ऊंचे पहाड़ और प्राकृतिक सुंदरता का एहसास करना चाहते हैं तो आपके लिए ऊटी एक अच्छा स्थान है। हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ऊटी में घूमने के स्थल और ऊटी जाने का सही समय कौन सा है, दिल्ली से ऊटी कितने किलोमीटर है?, के बारे में जानकारी देंगे।

ऊटी अपने हसीन वादियों के साथ-साथ अपने बेस्ट डेस्टिनेशन की वजह से पहचाना जाता है। यहां पर हर साल लाखों नए शादीशुदा जोड़े हनीमून मनाने आते हैं। इतना ही नहीं ऊटी को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है। अगर आप अपनी फैमिली के साथ ऊटी घूमने का विचार बना रहे हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगा। हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ऊटी से जुड़े महत्वपूर्ण स्थान के साथ साथ दिल्ली से ऊटी कितने किलोमीटर है? के बारे में जानकारी देंगे।

ऊटी कहां है? / ooty kha hai

ऊटी दक्षिण भारत के तमिलनाडु में स्थित एक छोटा सा हिल स्टेशन है। जो अपनी खूबसूरत वादियों की वजह से नव विवाहित जोड़ों के हनीमून के लिए प्रसिद्ध है। ऊटी कहां है में हर साल लाखों विवाहित जोड़े अपना हनीमून मनाने आते हैं। इस हिल स्टेशन की नीलगिरी की पर्वतों की श्रृंखलाएं देखते ही बनती है। इसलिए इस हिल स्टेशन को लोग पहाड़ों की रानी भी कहते हैं।

Read More : थाईलैंड जाने का खर्चा कितना है | भारत से थाईलैंड की दूरी कितनी है

ऊटी में घूमने के स्थल कौन-कौन से हैं?

अगर आप अपने दोस्तों के साथ या फिर अपनी फैमिली के साथ ऊटी का प्लान बना चुके हैं। आपके लिए नीचे हम ऊटी के कुछ बेहतरीन जगह के बारे में बताएंगे जहां आप घूम सकते हैं। ऊटी में घूमने के लिए बेहतरीन जगह कौन सी है नीचे जानते हैं-

नीलगिरि माउंटेन रेलवे लाइन

अगर आप सूखी घूमने जा रहे हैं तो आप नीलगिरि माउंटेन रेलवे लाइन के सफर का अनुभव जरूर करें। यकीन मानिए अनुभव आपको जिंदगी भर याद रहेगा। इस रेलवे सफर की शुरुआत ऊटी से मेट्टुपालयम तक होती है जिसमें आपको 5 घंटे इस सफर में एक अलग अनुभव मिलता है। इस सफर के दौरान आपको हरे भरे जंगलों, चाय के बागानों और सुन्दर पहाड़ों एक अलग अनुभव और रोमांस मिलता है। इस सफर के दौरान आपको ऐसा महसूस होगा कि आप एक अलग ही दुनिया में है।

एमराल्ड झील

अगर आप प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेना चाहते हैं तो आप ऊटी के एमराल्ड झील जरूर जाएं। यह झीलझील चाय के बागान से चारों ओर से घिरी हुई है। अगर आप अपना कीमती पल एक शांत वातावरण में व्यतीत करना चाहते हैं तो आप एमराल्ड झील जरूर जाएं। यहां पर आपको एक अलग ही प्रकृति का अनुभव महसूस होगा।

कोटागिरी हिल

कोटागिरी हिल स्टेशन ऊटी से लगभग 30 किलोमीटर दूर स्थित है। कोतागिरी हिल स्टेशन नीलगिरी पर्वतों से घिरा हुआ एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। इस हिल स्टेशन पर हर साल लाखों लोग घूमने आते हैं।

इस खूबसूरत हिल स्टेशन की सुंदरता कितनी ज्यादा है कि यह हिल स्टेशन ऊटी का सबसे अधिक प्रसिद्ध और घूमने जाने वाला हिल स्टेशन है। ये हिल स्टेशन अपनी ठंडी जलवायु और चाय के बागानों के साथ-साथ ऊंचे हरे भरे पर्वतों की वजह से बहुत अधिक प्रसिद्ध है।

मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान

अगर आप उठी घूमने जा रहे हैं तो आप नीलगिरी पर्वत के तलहटी पर स्थित मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान घूमने जरूर जाएं। इस राष्ट्रीय उद्यान में आपको 200 से अधिक विलुप्त हो चुके प्रजातियों के जानवर देखने को मिलते हैं। मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान ऊटी से लगभग 40 किलोमीटर नीलगिरी पर्वत पर स्थित है।

कैथरीन फाल्स

अगर आप प्राकृतिक सौंदर्य के साथ-साथ एक अद्भुत झड़ने का आनंद लेना चाहते हैं तो आप कैथरीन फाल्स जरूर जाए। यह झरना लगभग 250 फीट से ऊपर से गिरता है। इस झरने के चारों ओर हरे हरे जंगलों को देखकर आपको एक अलग ही अनुभव महसूस होगा। अगर आप पहाड़ों के साथ-साथ हरे-भरे पेड़ों का एक अनोखा संगम देखना चाहते हैं तो कैथरीन फाल्स जरूर जाए।

ऊटी जाने का सही समय क्या है?

अगर आप ऊटी घूमने जाना चाहते हैं तो आप सितंबर से नवंबर महीने जा सकते हैं। क्योंकि इस समय उल्टी का मौसम का तापमान लगभग 15 सेल्सियस लेकर 20 सेल्सियस तक रहता है। इस समय आप उठी का एक अलग ही मौसम और वहां की सुंदरता का अनुभव ले सकते हैं।

ऊटी जाने के लिए ट्रेन कहां से मिलती है?

अगर आप ट्रेन के द्वारा ऊटी जाना चाहते हैं ऊटी का सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन मेट्टूपलयम है। ये रेलवे स्टेशन ऊटी से लगभग 40 किलोमीटर दूर है। मेट्टूपलयम रेलवे स्टेशन जाने के लिए आपको चेन्नई बेंगलुरु से डायरेक्ट रेल मिलती है। इसके अलावा ऊटी में आपको घूमने के लिए टॉय ट्रेन मिलती है जिसके माध्यम से आप पहाड़ियों, घने जंगलों और घाटियों के सफर का आनंद ले सकते हैं।

बेंगलुरु से ऊटी की दूरी कितनी है?

बेंगलुरु से ऊटी की दूरी 271 किलोमीटर है। आपको बेंगलुरु से ऊटी पहुंचने में लगभग 5 घंटे से लेकर 6 घंटे का समय लगता है। बेंगलुरु से ऊटी जाने के लिए डायरेक्ट बहुत सारी रेल मौजूद हैं। अगर आपके पास खुद का साधन है तो आप कार के माध्यम से भी बंगलुरु से ऊटी जा सकते हैं।

दिल्ली से ऊटी कितने किलोमीटर है?

दिल्ली से ऊटी 2451 किलोमीटर है। आपको दिल्ली से उठी पहुंचने में लगभग 44 घंटे का समय लगता है। आप दिल्ली से ट्रेन के माध्यम से ऊटी जा सकते हैं। ऊटी के लिए दिल्ली से कोई डायरेक्ट ट्रेन नहीं है। इसलिए आप सबसे पहले दिल्ली से बेंगलुरु और फिर आप बेंगलुरु से डायरेक्ट ऊटी जा सकते हैं।

FAQ

चेन्नई से ऊटी की दूरी कितनी है।

चेन्नई से ऊटी की दूरी 555 किलोमीटर है।

तिरुपति बालाजी से ऊटी कितनी दूर है?

तिरुपति बालाजी से ऊटी की दूरी 385 किलोमीटर है।

ऊटी घूमने में कितना खर्चा आएगा?

अगर आप एक सप्ताह के लिए ऊटी घूमने जाते हैं तो प्रति व्यक्ति लगभग ₹25000 का खर्चा आता है।

ऊटी के पास कौन सा रेलवे स्टेशन है।

ऊटी के पास मेट्टूपलयम रेलवे स्टेशन है जो की ऊटी से लगभग 40 किलोमीटर दूर है।

ऊटी में बर्फबारी कब होती है?

ऊटी में नवंबर दिसंबर जनवरी फरवरी के महीने में बर्फबारी होती है।

निष्कर्ष

हमने आप सभी यूजर्स को इस आर्टिकल के माध्यम से ऊटी में घूमने के स्थल, ऊटी जाने का सही समय कौन सा है, दिल्ली से ऊटी कितने किलोमीटर है?, बेंगलुरु से ऊटी की दूरी, दिल्ली से ऊटी कितने किलोमीटर है, के बारे में जानकारी दी है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आप सभी लोगों को हमारे द्वारा दी गई है जानकारी बहुत ही पसंद आई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button