Travel Guide

रामेश्वरम मंदिर कहां है? | रामेश्वर मंदिर का इतिहास | रामेश्वरम में क्या खरीदें

रामेश्वरम मंदिर कहां है? | रामेश्वर मंदिर का इतिहास | रामेश्वरम में क्या खरीदें : आप सभी लोगों ने किसी न किसी से रामेश्वर मंदिर के बारे में जरूर सुना होगा। इसलिए हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से रामेश्वर मंदिर कहां है, रामेश्वर मंदिर का इतिहास क्या है और रामेश्वरम में क्या खरीदें इसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

दोस्तों रामेश्वर मंदिर चार धामों में से एक सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। रामेश्वर मंदिर हिंदुओं के आस्था का प्रतीक है। रामेश्वर मंदिर केवल इंडिया से ही नहीं बल्कि पूरे वर्ल्ड से करोड़ों भक्त रामेश्वर मंदिर दर्शन करने आते हैं। अगर आप भी रामेश्वर मंदिर का दर्शन करने के बारे में सोच रहे हैं। हम आपको किस आर्टिकल के माध्यम से रामेश्वर मंदिर से जुड़े, रामेश्वर मंदिर में कहां ठहरे, रामेश्वर में घूमने की जगह, लखनऊ से रामेश्वरम कैसे जाएं के बारे में पूरी इनफार्मेशन देंगे।

रामेश्वर मंदिर कहां है?

रामेश्वर मंदिर तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुरम शहर में स्थित है जो कि करोड़ भारतीय हिंदुओं का आस्था का प्रतीक है। रामेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। हर साल करोड़ों लोग रामेश्वर मंदिर दर्शन करने आते हैं। रामेश्वर मंदिर की सुंदरता देखते ही बनती है। रामेश्वर मंदिर की कलाकृतियों को देखकर आप खुद अचंभित हो जाएंगे।

रामेश्वर मंदिर का इतिहास | रामेश्वर मंदिर का रहस्य

रामेश्वर मंदिर हिंदुओं का एक बहुत ही पुराना धार्मिक पौराणिक स्थल है। रामेश्वरम केवल चार धामों में से एक नहीं है बल्कि यह 12 ज्योतिर्लिंगों मे से एक है। भारतीय ग्रंथों के अनुसार जब भगवान श्री राम श्रीलंका युद्ध करने जा रहे थे तब इन्होंने भगवान शिव की पूजा करने के लिए समुद्र के किनारे शिवलिंग की स्थापना की थी।

भगवान श्री राम ने शिवलिंग की स्थापना करने के बाद यहां पर भगवान शिव की पूजा करके युद्ध विजय होने का आशीर्वाद मांगा था। भगवान शिव ने राम जी के पूजा से खुश होकर इन्हें विजय श्री का आशीर्वाद दिया था। इसके अलावा भगवान राम ने लोगों के कल्याण के लिए भगवान शिव से प्रार्थना की कि आप ज्योतिर्लिंगों के रूप में यहां पर निवास करें जिससे कि लोगों का उद्धार हो सके। तभी से भगवान शिव का एक ज्योतिर्लिंग रामेश्वर के नाम से जाना जाता है।

कहते हैं कि रामेश्वरम को दक्षिण भारत का काशी माना जाता है। इतना ही नहीं अगर आप गंगाजल से रामेश्वर मंदिर में शिवलिंग की पूजा करते हैं और विधिवत पूजा करते हैं तो आप ब्रह्म हत्या से भी दोष मुक्त हो जाते हैं। अगर आप भी अपनी जिंदगी का उद्धार चाहते हैं तो आप एक बार रामेश्वरम दर्शन करने जरूर जाए।

रामेश्वरम में कहा ठहरे? | रामेश्वरम में रहने के लिए धर्मशाला

दोस्तों अगर आप रामेश्वरम घूमने जा रहे हैं तो आपको ठहरने को लेकर कोई टेंशन नहीं लेनी है। क्योंकि रामेश्वर मंदिर के एक किलोमीटर के अंदर आपको बहुत सारे रहने के लिए धर्मशाला मिलते हैं। इन धर्मशाला का 24 घंटे का किराया मात्र ₹300 से लेकर ₹500 तक होता है। इसके अलावा रामेश्वरम मंदिर के ट्रस्ट द्वारा भी धर्मशाला द्वारा रूम प्रोवाइड किया जाता है। आप ऑनलाइन माध्यम से रूम बुक कर सकते हैं।

रामेश्वरम में क्या खरीदें?

अगर आप रामेश्वर मंदिर घूमने जा रहे हैं तो आपको रामेश्वरम मे खरीददारी जरूर करनी चाहिए। रामेश्वरम की कुछ ऐसी चीज हैं जो बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। अगर आप रामेश्वरम में खरीदारी करना चाहते हैं तो आप यहां की देवी-देवताओं की हस्तनिर्मित मूर्तियाँ, कांस्य कलाकृतियाँ, पत्थर की मूर्तियाँ, हाथ से तराशी गई कला प्लेटें, रुद्राक्ष माला, तुलसी माला, की खरीदारी जरूर करें।

इसके अलावा आपके रामेश्वरम में खरीदारी करने के लिए समुद्री सीपियों से बने उत्पाद जैसे की सस्ते कीचेन, पेन होल्डर, शेल लैंप, शेल हेयर एक्सेसरीज, दीवार हैंगर, पर्दे और अन्य सजावटी सामान की खरीदारी कर सकते हैं। इतना ही नहीं रामेश्वरम की रेशम की साड़ियां बहुत अधिक प्रसिद्ध है। आप रामेश्वरम से रेशम की साड़ियों की खरीदारी जरूर करें।

रामेश्वरम में घूमने की जगह कौन-कौन सी है?

अगर आप रामेश्वरम घूमने का प्लान बना चुके हैं तो आपको रामेश्वरम घूमने जाने के पहले रामेश्वर में कहाँ-कहाँ घूमना चाहिए इसके बारे में मालूम होना जरूरी है। हम आपको रामेश्वरम की कुछ ऐसे मंदिर के बारे में जानकारी देंगे जहां आप घूम सकते हैं।

रामेश्वरम में घूमने के लिए अग्नितीर्थम, धनुषकोडी मंदिर, धनुषकोडी मंदिर, जटायु तीर्थम, अरियामन बीच, पंचमुखी हनुमान मंदिर, लक्ष्मण तीर्थम, विलूंडी तीर्थम, सी वर्ल्ड एक्वेरियम जैसे प्रमुख स्थान है जहां पर आप घूम सकते हैं। इसके अलावा अन्नाई इंदिरा गांधी रोड ब्रिज घूमने जरूर जाएं क्योंकि यहां पर आपको घूमने का अलग ही अनुभूति प्राप्त होगी ।

Read More : कन्याकुमारी कहां है और कन्याकुमारी क्यों प्रसिद्ध है? । Kanyakumari Kaha Hai

दिल्ली से रामेश्वरम ट्रेन किराया कितना है?

दिल्ली से रामेश्वरम जाने के लिए प्रतिदिन सात ट्रेन चलती है। ट्रेन के द्वारा दिल्ली से रामेश्वरम की दूरी 2162 किलोमीटर है। दिल्ली से रामेश्वरम ट्रेन का जनरल टिकट ₹525, स्लीपर टिकट ₹900, थर्ड एसी ₹2505, और सेकंड एसी टिकट ₹3560 है।

लखनऊ से रामेश्वरम कैसे जाएं?

दोस्तों अगर आप लखनऊ से रामेश्वरम जाना चाहते हैं और आपका अच्छा बजट है तो आप फ्लाइट के माध्यम से रामेश्वरम जा सकते हैं। रामेश्वरम के लिए डायरेक्ट फ्लाइट नहीं है, पहले आप लखनऊ से चेन्नई के लिए फ्लाइट से जाएंगे, इसके बाद आप बस के द्वारा रामेश्वरम जा सकते हैं।

अगर आपका बजट कम है तो आप ट्रेन के द्वारा लखनऊ से रामेश्वरम जा सकते हैं। सबसे पहले आप लखनऊ से नई दिल्ली के लिए ट्रेन से जाएंगे। इसके बाद आपको नई दिल्ली से डायरेक्ट रामेश्वरम के लिए ट्रेन मिलेगी। अगर आप ट्रेन के माध्यम से रामेश्वरम जाते हैं तो इसमें आपको समय बहुत अधिक लगता है।

FAQ

चेन्नई से रामेश्वरम की दूरी कितनी है।

चेन्नई से रामेश्वरम की दूरी 558 किलोमीटर है।

बेंगलुरु से रामेश्वरम की दूरी कितनी है।

बेंगलुरु से रामेश्वरम की दूरी 580 किलोमीटर है।

रामेश्वरम किस राज्य में है।

रामेश्वरम तमिलनाडु राज्य में है।

तिरुपति बालाजी से रामेश्वरम की दूरी कितनी है?

तिरुपति बालाजी से रामेश्वरम की दूरी 626 किलोमीटर है।

रामेश्वरम से श्रीलंका की दूरी कितनी है?

रामेश्वरम से श्रीलंका की दूरी 1326 किलोमीटर है।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आप सभी यूजर्स को इस आर्टिकल के माध्यम से रामेश्वरम मंदिर कहां है?, रामेश्वर मंदिर का इतिहास, रामेश्वरम में क्या खरीदें, रामेश्वर मंदिर में कहां ठहरे, रामेश्वर में घूमने की जगह, लखनऊ से रामेश्वरम कैसे जाएं के बारे में पूरी इनफार्मेशन विस्तार से दी है, अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है इंफॉर्मेशन अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट करके अपनी राय अवश्य दें।

दोस्तों अगर आप ट्रैवल के रिलेटेड साथ-साथ इंटरेस्टिंग फैक्ट से जुड़ी जानकारी पाना चाहते हैं तो आप हमारे इस ट्रैवल वेबसाइट को बुकमार्क जरूर करें। क्योंकि हम आप सभी यूजर्स के लिए ऐसे ही बेहतरीन जानकारी इस वेबसाइट के माध्यम से पब्लिश करते रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button